बिल्डरों के खिलाफ सड़क पर उतरेंगे निवेशक – दैनिक जागरण – 2-Dec-2014

December 4, 2014 - Uncategorized

बिल्डरों की मनमानी पर अंकुश लगाने की मांग को एक बार फिर से एनसीआर के निवेशकों ने सड़क पर उतरने की तैयारी कर ली है। इसके तहत रविवार को जंतर-मंतर पर धरना प्रदर्शन का एलान नोएडा एक्सटेंशन फ्लैट आनर्स वेलफेयर एसोसिएशन (नेफोवा) कर दिया है। इस एसोसिएशन के आंदोलन का समर्थन करने के लिए नोएडा, ग्रेटर नोएडा सहित दिल्ली, गुड़गांव, फरीदाबाद, गाजियाबाद के निवेशकों ने भी कर दिया है।

निवेशकों को कहना है कि कई वर्षो केंद्र सरकार के पास ‘रियल एस्टेट रेग्यूलेटरी बिल’ लंबित पड़ा है, जिसे संसद में पेश नहीं किया जा रहा है। इस बिल के पास नहीं होने से लगातार निवेशकों को शोषण बिल्डरों की ओर से किया जा रहा है। बिल्डर तीन वर्ष में प्रोजेक्ट को पूरा करने का दावा करता है, लेकिन सात-सात वर्ष पूरा होने के बाद भी निवेशकों को उनका आशियाना नहीं सौंपा जा रहा है। हैरानी की बात है कि प्रोजेक्ट देरी में होने वाले नुकसान की भरपाई भी बिल्डरों की ओर से निवेशकों को राशि बढ़कर वसूली जा रही है। इससे उनकी आर्थिक स्थिति भी खराब हो रही है। यही नहीं, निवेशक आशियाने की पूरी रकम बिल्डर को सौंपने के बाद भी किराये के घर पर रहने को मजबूर है और बैंक की किस्त भी दे रहे है। ऐसे में उनका आर्थिक व मानसिक शोषण हो रहा है। इस पर केंद्र सरकार की ओर से तत्काल रोक लगाई जानी चाहिए। इसके लिए केंद्र सरकार ने निवेशकों को भरोसा दिलाया था कि जल्द वह ‘रियल एस्टेट रेग्यूलेटरी बिल’ के जरिये बिल्डरों की मनमानी पर अंकुश लगाएगी, लेकिन इसे अभी संसद में पेश नहीं किया गया है। जल्द ही शीतकालीन संसद सत्र शुरू होने जा रहा है। ऐसे में इस बिल को संसद में पेश कर पास कराने के लिए केंद्र सरकार पर दबाव बनाने की योजना तैयार की है। इसके तहत जंतर मंतर पर सात दिसंबर को धरना प्रदर्शन करने की योजना है। इसमें नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजि़याबाद, गुड़गांव, फरीदाबाद और दिल्ली के कई फ्लैट बायर्स एसोसिएशन की ओर से हिस्सा लिया जाएगा। इसमें फेडरेशन ऑफ अपार्टमेंट आनर्स एसोसिएशन (गाजि़याबाद ), गोल्फ लिंक वन बायर्स एसोसिएशन (ग्रेटर नोएडा) सहित अन्य के नाम शामिल है।

————-

सोशल मीडिया से संपर्क साधा:

नेफोवा पदाधिकारियों का कहना है कि उम्मीद की जा रही है कि धरने में न केवल ग्रेटर नोएडा वेस्ट बल्कि दिल्ली और एनसीआर क्षेत्र के सैकड़ों फ्लैट खरीदार हिस्सा लेंगे। बिल्डर्स हाउसिंग प्रोजेक्ट्स में घर बुक कराने वाले हजारों फ्लैट खरीदारों को धरने में शामिल होने के लिए नेफोवा द्वारा मेल, एसएमएस, सोशल मीडिया इत्यादि का इस्तेमाल किया जा रहा है।

———–

जब तक ‘रियल एस्टेट रेग्यूलेटरी री बिल’ संसद में पास नहीं हो जाता है। तब तक नेफोवा बिल पास कराने के लिए संघर्ष करती रहेगी।

 

Dainik Jagran

Leave a Reply